About Us

पवित्र नगरी अयोध्या से यदि हम सरयू की पावन धारा के साथ-साथ पूर्व की ओर लगभग 100 किमी. चले तो उत्तर प्रदेश की अम्बेडकर नगर जिले में आज़मगढ़ गोरखपुर और बस्ती जिले की सीमा पर सरयू नदी के दक्षिणी कछार से सटे बांगर क्षेत्र में स्तिथ है गाँव कमालपुर, मुबारकपुर, पिकार, और जलालपुर

इन चारो गाँवो में से दो में सघन आबादी है जबकि शेष दो में इसी आबादी के उपजाऊ खेत है आबादी वाले में दो गाँव है कमालपुर मुबारकपुर जिनकी लगभग सम्पूर्ण आबादी ब्रम्ह भट्ट ब्राम्हणो की है इनका वंशमूल प्रारम्भ होता है इनके आदिपिता कुलदेवता श्री सुरजू बाबा से

सुरजू बाबा का पवित्र स्थल गाँव से लगभग 2 किमी पूर्व सरयू नदी के कछार से सटे घिनहापुर (पोखरा) ग्राम के उत्तर में स्थित है

बाबा के साथ ही परिगाहन बाबा भी निवास करते है और इसी पावन प्रांगण में सुरजू बाबा वंश की आदिमाता परमेश्वरी माई का स्थल भी स्थित है हम सब सुरजू बाबा परिवार उन्हीं की संतति है जिनकी कृपा आज भी हम पर बनी है आज भी हमारे समस्त शुभ कार्य बिना उनकी अभ्यर्थना के पूर्ण नहीं होती है

बाबा आज के युग में भी कितने जाग्रत है और उनकी महिमा क्या है इसकी झलक आप हमारी वेबसाइट पर उपलब्ध सुरजू बाबा चालीसा को पढ़कर जान सकते है

विभिन्न व्यवसायों आदि में संलग्न सुरजू बाबा के वंश पुरे भारत वर्ष और विदेशों में फैले है तथा प्रतिवर्ष कार्तिक मास की तृतीया तिथि पर बाबा का विशाल वार्षिक महोत्सव धूम धाम से मनाते है.

Home